UP Board Class 10th Hindi Subjective Question

UP Board Class 10th Hindi Subjective Question | Matric Exam 2022 UP Board Hindi Subjective Question

UP Board Class 10th

UP Board Class 10th Hindi :- दोस्तों इस पोस्ट में उत्तर प्रदेश बोर्ड मैट्रिक परीक्षा के लिए हिंदी का लघु उत्तरीय प्रश्न दिया गया है जो उत्तर प्रदेश बोर्ड मैट्रिक परीक्षा के लिए काफी महत्वपूर्ण है इसे शुरू से अंत तक पढ़े हैं | Matric Exam 2022 UP Board Hindi Subjective Question | Hindi Subjective UP Board 10th | 10th class objective hindi pdf

Matric Exam 2022 UP Board Hindi Subjective Question Answer


प्रश्न 1. निबंध किसे कहते हैं ?

उत्तर निबंध उस गद्य विद्या को कहते हैं, जिसमें किसी विषय पर सभी दृष्टियों से प्रस्तुत किए गए विचारों का मौलिक और स्वतंत्र विवेचन; बिचारपूर्ण , विवरणात्मक और विस्तृत रूप में होता है। इसमें लेखक स्वतंत्रता पूर्वक अपने विचारों तथा भावों को प्रकट करता है।

प्रश्न 2. शुक्ल युग के दो प्रमुख लेखकों अथवा निबंधकारों के नाम लिखिए।

उत्तर शुक्ल युग के दो प्रमुख लेखक

(i) आचार्य रामचंद्र शुक्ल तथा (ii) बाबू गुलाब राय लेखक / निबंधकार है।

प्रश्न 3. रामचंद्र शुक्ल को गद्य की किन दो विधाओं के लेखन में सर्वाधिक सफलता मिली है ?

उत्तर आचार्य रामचंद्र शुक्ल (1) आलोचना और (2) निबंध नामक गद्य की दो विधाओं में सर्वाधिक प्रसिद्ध है। शुक्ला जी आलोचना और निबंध के अतिरिक्त इतिहास – लेखन के लिए भी जाने जाते हैं।

प्रश्न 4. भारतेंदु के बाद के प्रमुख ऐतिहासिक नाटककार का नाम लिखिए।

उत्तर भारतेंदु हरिश्चंद्र के बाद के प्रमुख ऐतिहासिक नाटककार है – श्री जयशंकर प्रसाद।

प्रश्न 5. नाटक किसे कहते हैं ?

उत्तर नाटक साहित्य की एक से अधिक अंकों वाली वह दृश्यात्मक गद्य विधा है, जो रंगमंच पर अभिनय द्वारा प्रस्तुत करने की दृष्टि से लिखी जाती है तथा पात्रों एवं उनके संवादों पर आधारित होती है।

प्रश्न 6. शुक्ल युग के दो नाटक कारों के नाम लिखिए।
या प्रसाद युग के किसी एक नाटककार का नाम लिखिए।

उत्तर जयशंकर प्रसाद और (2) हरिशंकर ‘ प्रेमी ’ ; शुक्ल युग के दो नाटककार है।

प्रश्न 7. प्रसादोत्तर काल के चार नाटककारों तथा उनके एक-एक नाटक का नाम लिखिए।

उत्तर लक्ष्मी नारायण मिश्र – सिंदूर की होली , (2) विष्णु प्रभाकर – टूटते परिवेश , (3) धर्मवीर भारती – अंधा युग (4) मोहन राकेश – लाहरो के राजहंस।

प्रश्न 8. हिंदी के दो प्रमुख एकांकीकार और उनके द्वारा लिखित एक एक एकांकी का नाम बताइए।

उत्तर डॉ. राजकुमार वर्मा – दीपदान तथा (2) उपेंद्रनाथ ‘ अश्क ’ – तौलिए दो प्रमुख एकांकीकार और उनके का उनकी रचनाएं हैं।

प्रश्न 9. उपन्यास का व्युत्पत्तिपरक अर्थ बताइए।

उत्तर ‘ उपन्यास ’ शब्द संस्कृत भाषा के ‘ उपन्यस्त ’ शब्दों से बना है , जिसका अर्थ होता है — ‘ सामने रखा हुआ ’ । इस प्रकार मानव जीवन, समाज या इतिहास के यथार्थ सत्य को संवाद एवं दृश्यात्मक घटनाओं पर आधारित चित्र के माध्यम से पाठकों के सम्मुख यथार्थ रूप से प्रस्तुत करने वाली विधा ही उपन्यास कहलाती है।

प्रश्न 10. द्विवेदी युग के तीन प्रसिद्ध उपन्यासकारों के नाम लिखिए।

उत्तर (1) प्रेमचंद , (2) वृंदावनलाल वर्मा तथा (3) किशोरी लाल गोस्वामी; द्विवेदी युग के तीन प्रसिद्ध उपन्यासकार है

प्रश्न 11. शुक्ल युग के दो प्रमुख उपन्यासकारों के नाम लिखिए।

उत्तर प्रेमचंद तथा (2) आचार्य चतुरसेन शास्त्री; शुक्ल युग के दो प्रमुख उपन्यासकार हैं।

प्रश्न 12. शुक्ल युग के प्रसिद्ध उपन्यास लेखक और उनके एक अति प्रसिद्ध उपन्यास का नाम लिखिए।

उत्तर उपन्यासकार — प्रेमचंद। प्रमुख उपन्यास — गोदान

प्रश्न 13. शुक्लोत्तर युग के दो उपन्यासकारों के नाम लिखिए तथा उनके एक एक उपन्यास का उल्लेख कीजिए।

उत्तर शुक्लोत्तर युग के दो उपन्यासकार यशपाल और भगवतीचरण वर्मा है। इनके द्वारा लिखित एक एक उपन्यास के नाम ( क्रमशः है – झूठा सच और भूले बिसरे चित्र।

Uttar Pradesh Matric Pariksha Hindi ka subjective question

प्रश्न 14. उपन्यास और कहानी लेखन के क्षेत्र में प्रेमचंदोत्तर लेखकों में से कुछ के नाम लिखिए।

उत्तर उत्तर — उपन्यास और कहानी के क्षेत्र में प्रेमचंद के बाद आने वाले लेखकों में से उल्लेखनीय है — जैनेंद्र कुमार , आचार्य चतुरसेन शास्त्री , भगवतीप्रसाद बाजपेयी , भगवतीचरण वर्मा , राहुल सांकृत्यायन , यशपाल , इलाचंद्र जोशी , नागार्जुन , अमृतलाल नगर आदि

प्रश्न 15. शुक्ल युग के दो प्रसिद्ध कहानी लेखकों के नाम लिखिए।

उत्तर (1) श्री भगवती चरण वर्मा तथा (2) आचार्य चतुरसेन शास्त्री; शुक्ल युग के दो प्रसिद्ध कहानी लेखक हैं।

प्रश्न 16. प्रेमचंदोत्तर युग के किन्हीं दो कहानीकारों के नाम लिखिए।

उत्तर जैनेंद्र कुमार तथा (2) यशपाल ; प्रेमचंद के बाद के दो कहानीकार हैं।

प्रश्न 17. ब्रजभाषा गद्य का सूत्रपात किस वर्ष के आस पास हुआ ?

उत्तर ब्रजभाषा गद्य का सूत्रपात सम्यत् 1400 वि. (1343 ई.) के आस – पास हुआ।

प्रश्न 18. ब्रजभाषा गद्य के दो प्रमुख लेखक तथा उनकी एक एक रचना का नाम लिखिए।

उत्तर गोस्वामी विट्ठलनाथ , रचना — शृंगार रस —‘ मण्डन ’। (2) गोकुलनाथ रचना — ‘ चौरासी वैष्णव की वार्ता ’ और ‘ दो सौ बावन वैष्णव कि वार्ता ’।

प्रश्न 19. खड़ी बोली गद्य के प्रथम लेखक और उनकी प्रथम रचना का नाम लिखिए।

उत्तर कवि गंग को खड़ी बोली गद्य का प्रथम लेखक और उनकी रचना ‘ चंद छंद बरनन की महिमा ’ को खड़ी बोली गद्य की प्रथम रचना माना जाना चाहिए।

प्रश्न 20. आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने किस लेखक की भाषा को ‘ रंगीन और चुलबुली’ कहा है ?

उत्तर आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने इंशा अल्ला खाँ की भाषा को रंगीन और चुलबुली कहा है।

प्रश्न 21. बीसवीं शताब्दी में किस एक व्यक्ति ने हिंदी गद्य का निर्माण व प्रसार के लिए सर्वाधिक स्तुत्य कार्य किए ?

उत्तर बीसवीं शताब्दी में आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी ने हिंदी गद्य के निर्माण व प्रसार के लिए सर्वाधिक स्तुत्य कार्य किये।

प्रश्न 22. हिंदी गद्य का वास्तविक इतिहास कब से आरंभ हुआ ?

उत्तर हिंदी गद्य का वास्तविक इतिहास (भारतेंदू काल) 1850 ई. से आरंभ हुआ तथा 1900 ई. तक चला। इसी काल में गद्य साहित्य का विकास हुआ।

प्रश्न 23. भारतेंदु युग के दो प्रमुख लेखकों के नाम लिखिए।

उत्तर भारतेंदु युग के प्रमुख गद्य लेखकों में भारतेंदु के अतिरिक्त श्रीनिवासदास , बालकृष्ण भट्ट , प्रतापनारायण मिश्र , राधाकृष्णदास कार्तिक प्रसाद खत्री , राधाचरण गोस्वामी तथा बद्रीनारायण चौधरी ‘ प्रेमघन ’ के नाम प्रमुख है।

प्रश्न 24. भारतेंदु युग के गद्य की दो मुख्य विशेषताएं बताएं।

उत्तर भारतेंदु युग के गद्य की दो मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित है —
(1) इस युग में हिंदी गद्य का स्वरूप निर्धारित हुआ (2) इस युग के लेखकों में अपनी भाषा जाति और राष्ट्र के उत्थान के लिए समर्पण भावना थी।

प्रश्न 25. द्विवेदी युग की दो मुख्य विशेषताएं बताइए।

उत्तर (1) भाषा संस्कार तथा (2) गद्य के विविध रूपों और शैलियों का विकास; द्विवेदी युग की दो मुख्य विशेषताएं हैं।

UP Board class 10th Hindi ka subjective question 2022

प्रश्न 26. द्विवेदी युग के प्रमुख गद्य लेखकों के नाम लिखिए।

उत्तर आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी , अध्यापक पूर्ण सिंह , पद्मसिंह शर्मा , श्यामसुंदर दास आदि द्विवेदी युग के प्रमुख गद्य लेखक हैं।

प्रश्न 27. किसी एक प्रसिद्ध आलोचक का नाम लिखिए।

उत्तर आचार्य रामचंद्र शुक्ल हिंदी के युग प्रवर्तक आलोचक हैं।

प्रश्न 28. हिंदी आलोचना का उत्कर्ष कब से माना जाता है।

उत्तर आचार्य रामचंद्र शुक्ल की आलोचनात्मक कृतियों के प्रकाशन से हिंदी आलोचना का उत्कर्ष माना जाता है।

प्रश्न 29. सरस्वती पत्रिका किस युग में प्रकाशित हुई ?

उत्तर द्विवेदी युग की कला विधि 1900 से 1920 ई. तक है। कालाविधि का यह निर्धारण ‘ सरस्वती ’ पत्रिका के प्रकाशन के आधार पर किया गया है।

प्रश्न 30. शुक्ल युग की समय सीमा बताइए।

उत्तर शुक्ल युग की समय सीमा 1919 – 1938 ई. तक मानी जाती है।

प्रश्न 31. शुक्लोत्तर युग की समय सीमा बताइए।

उत्तर शुक्ल युग के पश्चात अर्थात 1938 सन् से सन् 1947 तक के काल को शुक्लोत्तर युग कहा जाता है।

प्रश्न 32. शुक्लोत्तर युग के दो प्रमुख गद्य लेखकों के नाम एवं उनकी कृतियों का उल्लेख कीजिए।

उत्तर (1) डॉ. नगेंद्र : कृतियाँ — (i) विचार और अनुभूति , (ii) अनुसंधान और आलोचना , (iii) आस्था के चरण , (iv) आप्रवासी की यात्राएं आदि।

(2) आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी : कृतियाँ — (i) अशोक के फूल , (ii) कुटज, (iii) विचार प्रवाह , (iv) पुनर्नवा आदि

प्रश्न 33. शुक्लोत्तर युग के दो प्रमुख आलोचकों के नाम लिखिए।

उत्तर आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी तथा (2) पंडित नंददुलारे वाजपेयी शुक्लोत्तर युग के दो प्रमुख आलोचक है।

UP Board Class 10th Hindi


Uttar Pradesh Board Matric Pariksha Question Answer 

 

Abhi Kumar

AA ONLINE SOLUTION, aa online solution class 10th question, aa online solution class 10th online test, 12th class aa online solution question, दोस्तों इस aa online solution वेबसाइट के माध्यम से हम आप सभी को मैट्रिक परीक्षा, इंटरमीडिएट परीक्षा तथा पॉलिटेक्निक,पारा मेडिकल एवं आई.टी.आई से संबंधित महत्वपूर्ण क्वेश्चन को प्रोवाइड करेंगे

http://www.aaonlinesolution.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *